KUMBH MELA PRAYAGRAJ 2019



Kumbh Mela is a mass hindu pilgrimage of faith in which Hindus gather to bathe in a sacred or holy river. Traditionally, four fairs are widely recognized as the Kumbh Melas: the Prayagraj Kumbh Mela, Haridwar Kumbh Mela, the Nasik Trayambakeshwar Sinhastha, and Ujjain Sinhastha. These four fairs are held periodically at one of the following places by rotation. The main festival site is located on the banks of a river: the Ganga at Haridwar; the confluence sangam of the Ganges and the Yamuna and the invisible Saraswati at Prayagraj; the Godavari at Nashik; and the Shipra at Ujjain. Bathing in these rivers is thought to cleanse a person of all their sins.

कुम्भ मेला…

संक्षिप्त विवरण

कुम्भ कलश को कहते है और इस सन्दर्भ में कलश यानि अमृत कलश। देवासुर संग्राम के बाद देवता और असुरों ने समुद्र मंथन किया, मंथन से चौदह रत्नों की प्राप्ति हुई जिन्हें आपस में बाँट लिया गया परन्तु जब अमृत कलश निकला तो एक बार फिर देवता और असुरों में युद्ध के आसार नजर आने लगे तब भगवान् विष्णु ने स्वयं मोहिनी रूप धारण कर सबको अमृत-पान कराने की बात कही और अमृत कलश की रक्षा का दायित्व इंद्र-पुत्र जयंत को सौपा। जब जयंत अमृत लेकर स्वर्ग को भाग रहा था तभी अमृत की बूंदे पृथ्वी पर चार स्थानों हरिद्वार, नासिक, उज्जैन और प्रयागराज में गिरी। अमृत की बूंदे छलकने के समय जिन राशियों में सूर्य, चंद्रमा, बृहस्पति की स्थिति के विशिष्ट योग के अवसर रहते हैं, वहां कुंभ पर्व का इन राशियों में गृहों के संयोग पर आयोजन होता है। इस अमृत कलश की रक्षा में सूर्य, गुरु और चन्द्रमा के विशेष प्रयत्न रहे थे। इसी कारण इन्हीं गृहों की उन विशिष्ट स्थितियों में कुंभ पर्व मनाने की परम्परा है। जयंत को अमृत कलश को स्वर्ग ले जाने में 12 दिन का समय लगा था, माना जाता है कि देवताओं का एक दिन पृथ्वी के एक वर्ष के बराबर होता है। यही कारण है कि इन स्थानों पर ही ग्रह-राशियों के विशेष संयोग पर 12 वर्षों में कुम्भ मेले का आयोजन होता है। यह पर्व प्रकृति एवं जीव तत्व में सामंजस्य स्थापित कर उनमें जीवनदायी शक्तियों को समाविष्ट करता है।

कुम्भ में स्नान, दीपदान, कल्पवास (कुम्भ मेले के दौरान संगम तट पर कल्पवास का विशेष महत्व है। पद्म पुराण एवं ब्रह्म पुराण के अनुसार कल्पवास की अवधि पौष मास के शुक्लपक्ष की एकादशी से प्रारंभ होकर माघ मास की एकादशी तक है।

प्रयागराज के  इस पवन पर्व कुम्भ में मातृसदन की  निर्बाध भागीदारी वर्ष 2001 से लगातार जारी है| प्रत्येक स्थान से भक्तगण यहाँ मातृसदन के कैंप में निवास एवं साधना करते हैं| मातृसदन में साधको को साधना हेतु शान्त एवं दिव्य वातावरण प्राप्त होता है, जो साधना के लिए आवश्यक है|


मातृसदन कैंप में भक्तो और साधको के लिए नियम:

  1. कृपया अपने आने की पूर्व सूचना दें एवं कैंप कार्यालय में पंजीकरण कराएँ|
  2. अपना आईडी (पहचान पत्र) ले कर आयें|
  3. कैंप में वर्णित नियमों एवं विनियमों  का पालन करें|



प्रयागराज में कैम्प 14 फ़रवरी 2019 तक उपलब्ध रहेगा|


स्नान की प्रमुख तिथियाँ: मकर संक्रांति 15 जनवरी, 2019, पौष पूर्णिमा  21 जनवरी, 2019, मौनी अमावस्या  4 फरवरी, 2019, बसंत पंचमी  10 फरवरी, 2019, माघी पूर्णिमा  19 फरवरी, 2019, महाशिवरात्रि 4 मार्च , 2019

पता: मात सदन, सेक्टर 14, प्लाट नंबर 84, मुक्ति मार्ग, मोबाइल टावर के निकट, प्रयागराज, उत्तर प्रदेश

फोन: स्वामी पूर्णानंद – 9411568959,  रामबाबू – 9431080400,

 ब्रहमचारी दयानंद –9808725573 (whatsapp  number) ईमेल matrisadan@hotmail.com

Matri Sadan continuously has been a part of this auspicious Kumbh mela in prayagraj since 2001, devotees comes from all over to visit Matri Sadan camp at prayagraj as they find the camp as an idle place to do Austerities during the month of Kumbh.

During the course of Kumbh Mela, Matri Sadan adhere in maintaining a calm and divine atmosphere providing the very foundation for Sadhaka’s and devotees to do their sadhana while staying in our camp.

Rules and Details for the Devotees and Sadhakas who wish to stay and do their sadhana and to attend kumbh Snan (bath) in our Camp at Prayagraj.

  • Before coming to our camp at Prayagraj, please do inform and register about your arrival to the camp authorities. Contact details given below
  • Bring ID proof.
  • Follow the Rules and Regulations mentioned in the camp.
  • Our Camp at Prayagraj will be available upto 14th February 2019.

Contact Us

Address- Matri Sadan , Sector no 14, Plot no 84, Mukti Marg,Near mobile tower,Prayagraj, Uttar pradesh.
Mob: Swami Poornanad- 9411568959, Rambabu – 9431080400, Brahmachari Dayanand-9808725573 (whatsaap in this number). Email- matrisadan@hotmail.com

For further details